ऑस्ट्रियाई चांसलर ने पीएम मोदी को कराया रात्रिभोज, सड़क पर घुमाया और सेल्फी ली; बिजनेस लीडर्स से करेंगे मुलाकात

0
Share

 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना दो दिवसीय ऐतिहासिक रूस दौरा खत्म करने के बाद मंगलवार देर रात ऑस्ट्रिया पहुंच गए। यह 41 साल में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की सेंट्रल यूरोपीय देश ऑस्ट्रिया की पहली यात्रा है। इससे पहले इंदिरा गांधी 1983 में देश का दौरा करने वाली आखिरी भारतीय प्रधानमंत्री थीं। नरेंद्र मोदी का यह दौरा एक दिन का है, इस दौरान वे दोनों देशों के रिश्तों को मजबूत करने पर चर्चा करेंगे और बिजनेस लीडर्स से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा पीएम मोदी वियना में भारतीय समुदाय के लोगों के साथ बातचीत करेंगे।

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना पहुंचकर पीएम मोदी ऑस्ट्रिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वान डेर बेलेन से मुलाकात करेंगे और चांसलर नेहमर के साथ बातचीत करेंगे। दोनों नेता भारत और ऑस्ट्रिया के बिजनेस लीडर्स को भी संबोधित करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि दोनों देश अपने रिश्तों को और ज्यादा मजबूत करने के साथ कई जियो-पॉलिटिकल चैलेंजेस को लेकर आपसी सहयोग के रास्ते तलाशेंगे। बता दें कि 2021 में ग्लासगो COP26 के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने तत्कालीन ऑस्ट्रियाई चांसलर अलेक्जेंडर शालेनबर्ग के साथ चर्चा की थी, जो अब विदेश मंत्री हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने X पोस्ट में लिखा- ऑस्ट्रिया अपने वाइब्रेंट म्युजिक कल्चर के लिए मशहूर है। वंदे मातरम् की इस अद्भुत प्रस्तुति से मुझे इसकी झलक मिली। वियना में वंदे मातरम् की परफॉर्मेंस में शामिल ऑर्केस्ट्रा के एक ऑस्ट्रियाई कलाकार ने कहा कि पीएम मोदी के सामने अपना आर्ट प्रस्तुत करना अद्भुत अनुभव था। मैंने इसका आनंद लिया… यह मेरे लिए गर्व की बात है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऑस्ट्रिया रिपब्लिक के फेडरल चांसलर कार्ल नेहमर की ओर से आयोजित रात्रिभोज में शामिल हुए। इसके बाद दोनों नेताओं ने यहां प्रवासी भारतीयों का अभिनंदन भी किया।

उधर, ऑस्ट्रिया में भारतीय समुदाय पीएम मोदी की यात्रा को लेकर बेहद उत्साहित है। प्रसिद्ध भरतनाट्यम नृत्यांगना और ऑस्ट्रो-इंडिया एसोसिएशन की अध्यक्ष राधा अंजलि ने भारत और ऑस्ट्रिया के बीच सांस्कृतिक संबंध पर प्रकाश डाला। अंजलि ने आशा व्यक्त की कि मोदी की यात्रा मौजूदा संबंधों को मजबूत करेगी और भविष्य में दोनों देशों के बीच एक मजबूत दोस्ता देखने को मिलेगी।

राजनयिक रिश्तों के 75 साल पूरे
प्रधानमंत्री मोदी की यह विदेश यात्रा 9-10 जुलाई को ऐसे समय में हो रही है, जब दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों के 75 साल पूरे हो रहे हैं। साल 1949 में दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध बने थे। इसके बाद प्रधानमंत्री जवाहरलाल साल 1955 में पहली बार ऑस्ट्रिया की यात्रा पर गए थे। इसके बाद प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी साल 1971 में ऑस्ट्रिया की पहली यात्रा पर गई थीं और फिर 1983 में दूसरी ऑस्ट्रिया यात्रा पर गई थीं।

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *