‘हमले’ पर सियासत, प्रधानमंत्री ने चन्नी पर किया पलटवार, कहा- कांग्रेस पाकिस्तान के गुण गा रही है

0
Share

 

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में वायुसेना के काफिले पर हुए आतंकी हमले को लेकर पंजाब की जालंधर लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार चरणजीत सिंह चन्नी के विवादित बयान पर पीएम नरेंद्र मोदी ने आज जवाब दिया. पीएम मोदी ने कहा कि जब कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं बचा तो उन्होंने झूठे आरोप लगाना शुरू कर दिया.

चन्नी का नाम लिए बिना पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व सीएम कहते हैं कि सेना पर हमला एक स्टंट था. यह कांग्रेस की मानसिकता को दर्शाता है. कांग्रेस हर बार जीत के बाद पाकिस्तान का गुणगान करती है. इससे कांग्रेस की देश के प्रति मंशा साफ झलकती है.

 

चन्नी ने कहा बीजेपी का स्टंट

बता दें कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा था कि पुंछ हमला बीजेपी का स्टंट है. केंद्र सरकार हर बार ऐसा ड्रामा करती रही है. ये पूर्व नियोजित स्टंट हैं और बीजेपी को जिताने के लिए किए गए हैं।’ लोगों को मारना और उनकी लाशों से खेलना बीजेपी का काम है.

 

उधर, इस विवादित बयान के कुछ देर बाद कांग्रेस उम्मीदवार चरणजीत सिंह चन्नी ने सफाई दी. तब चन्नी ने कहा कि मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया. मेरे कहने का मतलब यह था कि पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान भी ऐसा ही हमला हुआ था. हालांकि, बीजेपी की ओर से इसकी जांच नहीं करायी गयी और अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि उक्त हमले में कौन शामिल था.

 

चन्नी ने सत्यपाल मलिक का हवाला दिया था

जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पिछले हमले को लेकर कहा था कि ऐसे हमले दोबारा हो सकते हैं. लेकिन सरकार ने उक्त शिकायत का सार नहीं उठाया। चन्नी ने कहा था कि पंजाब बीजेपी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पिछले हमले को लेकर प्रधानमंत्री मोदी से इस्तीफा मांगा था.

यह हमला एक साजिश के तहत किया गया है. जाखड़ ने यह बयान मंच पर दिया. उन्होंने कहा कि जाखड़ के पास कोई स्टैंड नहीं है. जब मेरे देशवासी शहीद होते हैं तो मुझे दुख होता है।’ लेकिन बीजेपी इसे अपना स्टंट बना रही है.

 

परगट ने बीजेपी की आलोचना की

इसके साथ ही पीएम मोदी द्वारा दिए गए बयान पर जालंधर कैंट से विधायक और पूर्व मंत्री परगट सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सत्यपाल मलिक को राज्यपाल नियुक्त किया है, जिन्हें केंद्र सरकार ने राज्यपाल नियुक्त किया है. उन्होंने सरकार को जो रिपोर्ट सौंपी थी, उस पर आज तक कुछ नहीं कहा गया है. परगट सिंह ने कहा कि रिपोर्ट में कहा गया था कि राज्य में कोई बड़ा हमला हो सकता है, लेकिन सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया. कुछ देर बाद 40 जवान शहीद हो गए. लेकिन उनकी जांच अभी भी अधूरी है.

 

 

 

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *