शंभू बॉर्डर पर किसानों का रेलवे ट्रैक जाम: बैरिकेड टूटे, पुलिस से झड़प; 34 ट्रेनें प्रभावित, 11 रद्द

0
Share

 

पंजाब-हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों ने रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया है. नेशनल हाईवे बंद होने के बाद अब किसानों ने शंभू बॉर्डर के पास रेलवे ट्रैक पर धरना शुरू कर दिया है. पुलिस ने किसानों को रोकने की कोशिश की तो पुलिस और किसानों के बीच झड़प हो गई. किसानों ने पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड तोड़ दिए और रेलवे ट्रैक पर बैठ गए.

 

बता दें कि किसान नेता सरकार से किसान नवदीप सिंह जलबेड़ा और 3 अन्य किसानों की रिहाई की मांग कर रहे हैं. इस संबंध में पंजाब और हरियाणा सरकार के साथ किसानों की बैठक भी हुई. इस मुलाकात के बाद उनकी रिहाई का आश्वासन भी दिया गया. किसानों ने सरकार को 16 अप्रैल तक का समय दिया था. जिसके बाद किसानों ने सरकार को रिहा नहीं किया, जिसके विरोध में किसान रेलवे ट्रैक पर धरना दे रहे हैं.

 

किसानों के धरने के कारण 34 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. 11 ट्रेनों को पूरी तरह से रद्द कर दिया गया है, जबकि कई ट्रेनों के रूट डायवर्ट कर दिए गए हैं और कुछ ट्रेनों के रूट छोटे कर दिए गए हैं.

 

रिलीज होने तक ट्रैक नहीं छोड़ेंगे-दल्लेवाल

किसान नेता जगजीत डल्लेवाल ने कहा कि सरकार ने आश्वासन के बावजूद उन्हें रिहा नहीं किया. किसान जेल में आमरण अनशन पर है. जब तक सरकार उन्हें रिहा नहीं करेगी हम ट्रैक खाली नहीं करेंगे. अगर सरकार हमें अभी रिहा कर दे तो हम 10 मिनट में चले जायेंगे. डल्लेवाल ने आम लोगों की समस्याओं पर कहा कि हमारा दोस्त जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहा है, इसमें लोगों को हमारा साथ देना चाहिए.

 

हम नहीं चाहते थे, सरकार ने हमें मजबूर किया- पंढेर

आंदोलन का नेतृत्व कर रहे किसान नेता सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि हम ट्रेन नहीं रोकना चाहते थे. लेकिन हमें ऐसा करने के लिए मजबूर करना सरकार की विफलता है। सरकार 16 अप्रैल तक रिहाई के वादे से मुकर गयी है. उन्होंने कहा कि ट्रेन रोको आंदोलन अनिश्चित काल तक जारी रहेगा.

 

 

बीजेपी अध्यक्ष की चुनौती स्वीकार कर रहे हैं

सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि हमने पंजाब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ की चुनौती स्वीकार कर ली है. हमने 23 अप्रैल की तारीख तय की है. पंधेर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और कृषि मंत्री को उनसे आकर बात करनी चाहिए.

 

यह आंदोलन 13 फरवरी से चल रहा है

किसानों का यह धरना 13 फरवरी से लगातार जारी है. इस विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कई किसान नेताओं को गिरफ्तार भी किया है. सबसे पहले पुलिस ने अनीश खटकर को गिरफ्तार किया. वह जींद जेल में बंद है। 28 मार्च को अंबाला पुलिस ने युवा किसान नेता नवदीप सिंह जलबेड़ा और गुरकीरत सिंह को गिरफ्तार कर लिया. ये दोनों अंबाला सेंट्रल जेल में बंद हैं.

 

 

 

About The Author

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *