कन्याकुमारी में विवेकानंद की प्रतिमा के सामने पीएम मोदी की नजर, सामने आई पहली तस्वीर

0
Share

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल देर शाम से कन्याकुमारी के विवेकानन्द स्मारक पर ध्यान कर रहे हैं। विवेकानन्द की प्रतिमा के सामने ध्यान लगाते पीएम मोदी। पीएम मोदी ने कन्याकुमारी में 45 घंटे का ध्यान किया. प्रधानमंत्री मोदी का चिंतन कल यानी शनिवार शाम तक जारी रहेगा. सातवें चरण के मतदान से पहले पीएम मोदी कन्याकुमारी में फोकस कर रहे हैं. अगले 35 घंटे तक मौन रहेंगे पीएम मोदी.

प्रधानमंत्री कल देर शाम से ही विवेकानन्द रॉक मेमोरियल में ध्यान कर रहे हैं। 75 दिनों की लंबी चुनाव प्रक्रिया के बाद प्रधानमंत्री कल यानी गुरुवार को कन्याकुमारी पहुंचे तो कल शाम चुनाव प्रचार का शोर थम गया. पीएम मोदी 1 जून की शाम तक ध्यान मंडपम में ध्यान करेंगे. यह वही स्थान है जहां स्वामी विवेकानन्द ने 1892 में ध्यान किया था। पीएम मोदी जहां ध्यान कर रहे हैं, वहां विवेकानंद की मूर्ति है.

चुनाव का शोर शांत होते ही पीएम मोदी कन्याकुमारी पहुंचे

चुनाव का शोर खत्म होते ही पीएम मोदी कन्याकुमारी पहुंचे. सबसे पहले वे भगवती अम्मन के पास गये। पारंपरिक दक्षिण भारतीय परिधान पहने वे नंगे पैर और हाथ जोड़कर पीएम मोदी के मंदिर में दाखिल हुए। इसके बाद मंदिर में मौजूद पुजारियों ने प्रधानमंत्री को विधिवत पूजा-अर्चना करायी. शाम की आरती में शामिल हुए. मंदिर की परिक्रमा की. पुजारियों ने उन्हें अंगवस्त्र दिया. पीएम मोदी को देवी मां की तस्वीर भी भेंट की गई. आपको बता दें कि अम्मन मंदिर 108 शक्तिपीठों में से एक है। यह मंदिर करीब 3000 साल पुराना है।

जहां विवेकानन्द ने तपस्या की, वहां मोदी तपस्या कर रहे हैं

अम्मान मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी नाव से विवेकानन्द रॉक मेमोरियल के ध्यान मंडपम पहुंचे। ध्यान मंडपम में उन्होंने विवेकानन्द और रामकृष्ण परमहंस के सामने हाथ मिलाया। पुष्प अर्पित किये इसके बाद पीएम मोदी ध्यान में बैठ गये. जिस विवेकानंद रॉक मेमोरियल में पीएम मोदी ध्यान कर रहे हैं, दरअसल वह वही जगह है जहां 132 साल पहले स्वामी विवेकानंद शिकागो जाने से पहले तैराकी किया करते थे। उन्होंने तीन दिन तक ध्यान और तपस्या की। कन्याकुमारी की तपस्या का स्वामी विवेकानन्द के जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ा। माना जाता है कि यहीं पर विवेकानन्द को भारत माता के बारे में दिव्य ज्ञान प्राप्त हुआ था और उन्होंने एक विकसित भारत का सपना देखा था।

 

 

 

 

 

 

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *