सुखजिंदर रंधावा ने विधायक पद से इस्तीफा दिया, बीजेपी के दिनेश बब्बू को हराकर गुरदासपुर से सांसद चुने गए.

0
Share

 

पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने डेरा बाबा नानक सीट से विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है. उनका इस्तीफा पंजाब विधानसभा अध्यक्ष को भेज दिया गया है. वह गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे. उन्होंने चुनाव में बीजेपी के दिनेश बब्बू को हराया है. उन्हें 364043 वोट मिले. फिलहाल वह राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी भी हैं.

 

इस बार कुल चार विधायकों ने लोकसभा चुनाव लड़ा. इसमें डेरा बाबा नानक से कांग्रेस विधायक सुखजिंदर सिंह रंधावा, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और गिद्दड़बाहा से विधायक अमरिंदर सिंह राजा वारिंग, बरनाला से आप विधायक और मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर और कांग्रेस छोड़कर आप में शामिल हुए राज कुमार चैबेवाल शामिल हैं।

 

इनमें राजकुमार चैबेवाल ने पहले ही अपना इस्तीफा स्पीकर को भेज दिया था. वहीं अब सुखजिंदर सिंह रंधावा ने अपना इस्तीफा भेज दिया है. इसके साथ ही बाकी दो विधायकों को भी इस्तीफा देना होगा. इसके बाद स्पीकर इसकी जानकारी चुनाव आयोग को देंगे.

इसके बाद चुनाव आयोग इन विधायकों की सीटों पर उपचुनाव कराने पर फैसला लेगा. हालांकि, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले जालंधर वेस्ट से विधायक शीतल अंगुराल ने इस्तीफा दे दिया था। जहां अब चुनाव होने वाले हैं.

सभी को 20 जून तक इस्तीफा देना होगा

कानूनी विशेषज्ञों के मुताबिक, संसद सदस्य के रूप में चुने गए सभी नेताओं को 20 जून से पहले इस्तीफा देना होगा। क्योंकि दोनों पदों पर एक साथ काम नहीं किया जा सकता. अगर विधायक तय समय के अंदर इस्तीफा नहीं देते हैं तो उनकी लोकसभा सीट चुनाव आयोग द्वारा खाली मानी जाएगी. क्योंकि ये लोग 4 जून 2024 को चुनाव जीते थे. इसके बाद, सभी लोकसभा सांसदों के चुनाव से संबंधित अधिसूचना 6 जून 2024 को भारत के राजपत्र में प्रकाशित की गई है। इस्तीफे की प्रक्रिया उस अधिसूचना के 14 दिनों के भीतर पूरी की जानी चाहिए।

 

 

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *