गौतम गंभीर ने मुख्य कोच बनते ही राहुल द्रविड़ को दिया खास संदेश, वीवीएस लक्ष्मण के लिए भी कही ये बात

0
Share

 

2 साल तक टीम इंडिया के साथ जुड़े रहने के बाद अब राहुल द्रविड़ ने अलविदा कह दिया है. इस बीच उन्होंने भारतीय टीम को एक नई ऊंचाई पर पहुंचाया. भारत ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 का सेमीफाइनल खेला, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचा और एशिया कप 2023 जीता। द्रविड़ की कोचिंग में भारतीय टीम ने वनडे वर्ल्ड कप 2023 में सभी टीमों को हराया. हालांकि, फाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा और अब टी20 वर्ल्ड कप जीतकर उन्होंने नया बेंचमार्क स्थापित कर दिया है. उनके जाने के बाद गौतम गंभीर को नया मुख्य कोच नियुक्त किया गया है. इसके साथ ही टीम इंडिया का एक नया अध्याय शुरू हो गया है. कमान संभालते ही उन्होंने द्रविड़ को उनकी सफलता के लिए खास संदेश दिया.

गौतम गंभीर ने एक खिलाड़ी के तौर पर टीम इंडिया के लिए दो आईसीसी ट्रॉफी जीती हैं. उन्होंने टी20 वर्ल्ड कप 2007 और वनडे वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल मैच में शानदार पारी खेली थी. अब वह टीम इंडिया के मुख्य कोच के तौर पर नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं, जिसके लिए वह श्रीलंका दौरे पर टीम के साथ जुड़ेंगे. उनकी सफलता को देखते हुए बीसीसीआई ने उन्हें 2027 तक मौका दिया है.

 

इन 3 सालों के दौरान उनके पास टीम इंडिया के लिए चैंपियंस ट्रॉफी, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप, वनडे वर्ल्ड कप और टी20 वर्ल्ड कप जीतने का मौका होगा. द्रविड़ के कार्यभार संभालने से पहले गंभीर ने उनके काम की सराहना की और उनकी मौजूदा सफलता पर उन्हें बधाई दी. साथ ही कहा कि उन्हें टीम इंडिया के मुख्य कोच पर गर्व है और वह इस पद के लिए काफी उत्सुक हैं.

गंभीर ने वीवीएस लक्ष्मण के साथ मिलकर आगामी टूर्नामेंटों में टीम इंडिया को सफलता दिलाने की बात कही. उन्होंने कहा कि भारतीय टीम की जर्सी पहनना उनके लिए हमेशा गर्व की बात रही है और यह नई भूमिका भी उनके लिए अलग नहीं है. क्रिकेट हमेशा से उनका जुनून रहा है और अब अपनी नई भूमिका में वह वीवीएस लक्ष्मण के साथ टीम इंडिया के लिए आगामी टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं।

उन्होंने 2007 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में 54 गेंदों पर 75 रन बनाकर टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचाया, जिसकी मदद से टीम इंडिया ट्रॉफी जीतने में सफल रही. जब 2011 वनडे विश्व कप के फाइनल में सचिन और सहवाग आउट हो गए, तो उन्होंने पहले विराट कोहली, फिर महेंद्र सिंह धोनी के साथ साझेदारी की और 122 गेंदों में 97 रनों की पारी खेलकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई।

 

उन्होंने 6 मैचों में टीम इंडिया की कप्तानी की है और सभी में जीत हासिल की है। उनकी कप्तानी में भारत ने न्यूजीलैंड को वनडे सीरीज में 5-0 से हराया. उन्होंने आईपीएल में कप्तानी करते हुए 2 ट्रॉफी और मेंटर रहते हुए एक ट्रॉफी जीती है।

 

 

 

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *