अयोध्या में राम मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी, शहर में बढ़ाई गई सुरक्षा

0
Share

अयोध्या में भगवान श्री राम के मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी मिली है. ये धमकी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने दी है. इस धमकी के बाद अयोध्या में श्रीराम मंदिर और अन्य महत्वपूर्ण संस्थानों और संगठनों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. अयोध्या एसएसपी राजकरन नायर खुद मंदिर और अयोध्या महर्षि वाल्मिकी एयरपोर्ट पहुंचे और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. इसके साथ ही उन्होंने मैनुअल और इलेक्ट्रॉनिक मॉनिटरिंग को और मजबूत करने के निर्देश दिए हैं.

इस मौके पर एसएसपी राजकरन नायर ने आतंकी संगठन की धमकी पर तो कोई टिप्पणी नहीं की लेकिन कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर की सुरक्षा पहले से ही कड़ी है और समय-समय पर इसकी जांच की जाती है. इसी कड़ी के तहत उन्होंने मंदिर और एयरपोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लिया. एसएसपी के मुताबिक, अयोध्या धाम की सुरक्षा व्यवस्था के तहत पूरे शहर को छोटे-छोटे पॉकेट में बांटा गया है और हर पॉकेट की जिम्मेदारी वरिष्ठ राजपत्रित अधिकारियों को दी गई है.

 

सीसीटीवी कैमरे से कोने-कोने का नजारा

उन्होंने कहा कि श्रीराम मंदिर परिसर में बने सभी चौक-चौराहों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है. इसमें पुलिस के अलावा पीएसी की कंपनियां भी शामिल हैं. इसके अलावा शहर के अन्य सभी महत्वपूर्ण संस्थानों और संगठनों की सुरक्षा के विशेष इंतजाम किये गये हैं. उन्होंने कहा कि पूरे शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है. उन्होंने कहा कि इन कैमरों की मदद से रियल टाइम इनपुट जनरेट होता है और इसके आधार पर जरूरी व्यवस्थाएं और तैयारियां की जा रही हैं.

आपको बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने अयोध्या में बम विस्फोट करने की धमकी दी थी. इस धमकी के बाद पूरे अयोध्या शहर को हाई अलर्ट पर रखा गया है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, अयोध्या पहले से ही अभेद्य किले से भी ज्यादा सुरक्षित है, फिर भी आतंकी संगठन की धमकी को हल्के में नहीं लिया जा सकता. अधिकारियों के मुताबिक, अयोध्या में श्री राम मंदिर की सुरक्षा विशेष रूप से कड़ी है। इसमें किसी भी हालत में प्रवेश संभव नहीं है.

 

 

 

RAGA NEWS ZONE Join Channel Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *